NABARD Grade A & B Exam Pattern & Syllabus 2018 in Hindi (Prelims/Mains)

0

NABARD Grade A & B Syllabus & Exam Pattern 2018

NABARD Grade A & B Exam Pattern & Syllabus 2018. नाबार्ड ग्रेड ए परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए नवीनतम परीक्षा पैटर्न और विस्तृत पाठ्यक्रम का एक स्पष्ट विचार महत्वपूर्ण है। नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवेलपमेंट ने नाबार्ड ग्रेड ए ऑफिसर की भर्ती के लिए आधिकारिक अधिसूचना जारी कर दी है। इस परीक्षा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण 2 अप्रैल 2018 को बंद हो जाएगा। इस पोस्ट में, हमने नाबार्ड ग्रेड ए पाठ्यक्रम और नाबार्ड सहायक प्रबंधक प्रीलिम्स एंड मेंस परीक्षा के लिए पैटर्न साझा किया है। आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, नाबार्ड ग्रेड ए परीक्षा के पैटर्न में कोई बड़ा बदलाव नहीं है। नाबार्ड ग्रेड ए की चयन प्रक्रिया में निम्न चरणों का समावेश होगा:-

  • चरण I – प्रारंभिक परीक्षा: ऑनलाइन बहुविकल्‍पीय परीक्षा
  • चरण II – मुख्य परीक्षा: ऑनलाइन बहुविकल्‍पीय और ऑनलाइन वर्णनात्मक टेस्ट
  • चरण III – साक्षात्कार

नाबार्ड ग्रेड ए परीक्षा पैटर्न (NABARD Grade A Exam Pattern)

नाबार्ड ग्रेड ए प्रारम्‍भिक परीक्षा पैटर्न (Exam Pattern of NABARD Grade A Prelims)

ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा की प्रकृति सिर्फ उत्‍तीर्ण करने योग्‍य रहेगी अर्थात इसका उपयोग स्क्रीनिंग टेस्ट के रूप में करना है। प्रारंभिक परीक्षा में पर्याप्‍त रूप से कटऑफ के ऊपर उच्च अंक प्राप्‍त करने वाले उम्मीदवार को मुख्य परीक्षा में उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा। इसलिए प्रथम चरण की ऑनलाइन प्रारंभिक परीक्षा में प्राप्‍त अंक अंतिम चयन में नहीं जोड़े जायेंगे। प्रारम्‍भिक परीक्षा पैटर्न ग्रेड ए और ग्रेड बी दोनों के लिए समान है।

चरण I (Prelims)  के लिए परीक्षा पैटर्न निम्नलिखित है-

परीक्षा का नाम अधिकतम अंक कुल समय
तार्किक योग्‍यता 20 120 मिनट(2 घंटे)
अंग्रेजी भाषा 40
कम्‍प्‍यूटर ज्ञान 20
सामान्‍य जागरुकता 20
संख्‍यात्‍मक अभियोग्‍यता 20
आर्थिक और सामाजिक मुद्दे(ग्रामीण भारत पर केन्‍द्रित) 40
कृषि और ग्रामीण विकास(ग्रामीण भारत पर केन्‍द्रित) 40
कुल 200

नाबार्ड ग्रेड ए मुख्‍य परीक्षा पैटर्न (NABARD Grade A Mains Exam Pattern)

क्रमांक परीक्षा पद परीक्षा का नाम अधिकतम अंक कुल समयावधि
1. चरण I (वर्णनात्‍मक परीक्षा) सभी के लिये सामान्‍य अंग्रेजी (निबन्‍ध लेखन, कांप्रीहेंशन, रिपोर्ट लेखन, पैराग्राफ लेखन और पत्र लेखन) 100 90 मिनट
2. चरण II जनरल पद के लिये आर्थिक और सामाजिक मुद्दे और कृषि और ग्राम विकास(ग्रामीण भारत पर केन्‍द्रित) 100 90 मिनट
निम्नलिखित पदों सहित – अर्थशास्त्र, कृषि, कृषि इंजीनियरिंग, बागान और बागवानी, पशुपालन, मत्स्य पालन, खाद्य प्रसंस्करण, वानिकी, पर्यावरण इंजीनियरिंग, जल संसाधन विकास और प्रबंधन, सामाजिक कार्य, चार्टर्ड एकाउंटेंट और कंपनी सचिव संबन्‍धित विषय पर

नाबार्ड ग्रेड बी मुख्‍य परीक्षा पैटर्न (NABARD Grade ‘B’ Mains Exam Pattern)

क्रमांक परीक्षा परीक्षा का नाम अधिकतम अंक कुल समयावधि
1. चरण I सामान्‍य अंग्रेजी (वर्णनात्‍मक परीक्षा) 100 90 मिनट
2. चरण II आर्थिक और सामाजिक मुद्दे और कृषि और ग्रामीण विकास (ग्रामीण भारत पर केन्‍द्रित) जनरल पद के लिये और प्रबंधक (आरडीबीएस) कृषि पद के उम्‍मीदवारों के लिये कृषि 100 90 मिनट
3. चरण III आर्थिक विकास, सांख्‍यिकी, वित्‍त और प्रबंधन 100 90 मिनट

नाबार्ड ग्रेड ए और बी पाठ्यक्रम (NABARD Syllabus for Grade A & B)

नाबार्ड ग्रेड ए और बी प्रारंभिक(चरण 1) परीक्षा पाठ्यक्रम

  1. रीजनिंग- इस परीक्षा में प्रश्‍न विभिन्न विषयों जैसे पहेलियाँ(बैठने की व्यवस्था, रैखिक बैठने की व्यवस्था, मंजिल आधारित), न्‍याय निगमन, डेटा पर्याप्‍तता, कथन आधारित प्रश्‍न(मौखिक तर्क), असमानता, विविध प्रश्‍न, इनपुट आउटपुट, रक्‍त सम्‍बन्‍ध आदि से होंगे।
  2. संख्‍यात्‍मक अभियोग्यता- इस परीक्षा में प्रश्‍न आंकड़े व्याख्या, द्विघात समीकरण, संख्या श्रृंखला, सरलीकरण/अनुमान, डेटा पर्याप्‍तता और कुछ विविध प्रश्‍न से होगें। विविध प्रश्‍नों में लाभ और हानि, उम्र, औसत, साधारण और चक्रवृद्धि ब्याज, नाव और धारा, समय और कार्य, क्षेत्रफल के प्रश्‍न हैं।
  3. अंग्रेजी भाषा- इस परीक्षा में प्रश्‍न काम्‍प्रीहेंशन, क्लोज टेस्ट, वाक्य सुधार, स्‍पॉटिंग ऍरर, रिक्‍त स्थान भरना और वाक्य पुनरीक्षण से होगें।
  4. सामान्य जागरूकता- इस परीक्षा में प्रश्‍न करेंट अफेयर्स और बैंकिंग और अर्थव्यवस्था, बीमा से होंगे। करेंट अफेयर्स में हाल की नियुक्‍तियों, पुरस्कारों और सम्मान, खेल, नई योजनाएं, राष्‍ट्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय समाचार से, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के नवीनतम विकास से प्रश्‍न पूछे जा सकते हैं।
  5. कंप्यूटर ज्ञान- इस खंड में नेटवर्किंग, इनपुट आउटपुट डिवाइस, डीबीएमएस, एमएस ऑफ़िस, इंटरनेट, कंप्यूटर और उसकी पीढ़ियों का इतिहास, शॉर्टकट जैसे विभिन्न विषयों के प्रश्‍न शामिल हैं।

प्रारम्‍भिक परीक्षा के भाग II का पाठ्यक्रम पेपर II के द्वितीय चरण के पाठ्यक्रम के समान है, जैसा कि नीचे दिया गया है।

नाबार्ड ग्रेड ए और बी मुख्‍य परीक्षा पाठ्यक्रम (c)

नाबार्ड ग्रेड ए और बी परीक्षा के चरण II के लिये परीक्षा के चरण II में ऑनलाइन बहुविकल्‍पीय परीक्षा और ऑनलाइन वर्णनात्मक परीक्षा शामिल हैं।

पेपर I – अंग्रेजी लेखन

इसमें निबंध, प्रेसीज लेखन, काम्‍प्रीहेंशन, रिपोर्ट लेखन, पैराग्राफ लेखन और व्‍यापार/कार्यालय संवाद शामिल होंगे।

पेपर II – आर्थिक और सामाजिक मुद्दे

(A) आर्थिक और सामाजिक मुद्दे:

  • भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रकृति – संरचनात्मक और संस्थागत विशेषताएं – आर्थिक विकास – भारतीय अर्थव्यवस्था का विकास – वैश्‍वीकरण – भारत में आर्थिक सुधार – निजीकरण
  • मुद्रास्फीति – राष्‍ट्रीय अर्थव्यवस्था और व्यक्‍तिगत आय पर मुद्रास्फीति और उनके प्रभाव में रुझान
  • गरीबी उन्मूलन और भारत में रोजगार निर्माण – ग्रामीण और शहरी – गरीबी का मापन – सरकार के गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम
  • जनसंख्या रुझान – जनसंख्या विकास और आर्थिक विकास – भारत में जनसंख्या नीति। कृषि – विशेषताएं/स्थिति – भारतीय कृषि में तकनीकी और संस्थागत परिवर्तन – कृषि प्रदर्शन – भारत में खाद्य सुरक्षा के मुद्दे – ग्रामीण ऋण में गैर-संस्थागत और संस्थागत एजेंसियां।
  • उद्योग – औद्योगिक और श्रम नीति – औद्योगिक प्रदर्शन – भारत के औद्योगिक विकास में क्षेत्रीय असंतुलन – सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम।
  • भारत में ग्रामीण बैंकिंग और वित्‍तीय संस्थान – बैंकिंग/वित्‍तीय क्षेत्र में सुधार
  • अर्थव्यवस्था का वैश्‍वीकरण – अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍तपोषण संस्थानों की भूमिका – आईएमएफ और विश्‍व बैंक – विश्‍व व्यापार संगठन – क्षेत्रीय आर्थिक सहयोग।
  • भारत में सामाजिक संरचना – बहुसंस्कृतिवाद – जनसांख्यिकीय प्रवृत्तियां – शहरीकरण और प्रवासन – लिंग मुद्दे संयुक्‍त परिवार प्रणाली – सामाजिक बुनियादी सुविधा – शिक्षा – स्वास्थ्य और पर्यावरण शिक्षा – शिक्षा की स्थिति और व्यवस्था – निरक्षरता से संबंधित सामाजिक-आर्थिक नीतियां – शैक्षिक प्रासंगिकता और शैक्षिक अपव्यय – भारत के लिए शैक्षिक नीति।
  • सामाजिक न्याय: अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजाति की समस्याएं – अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों के लिए सामाजिक-आर्थिक कार्यक्रम।
  • विशेषाधिकार प्राप्‍त – सामाजिक आंदोलनों के पक्ष में सकारात्मक भेदभाव – भारतीय राजनीतिक प्रणाली – मानव विकास वर्तमान आर्थिक और सामाजिक मुद्दे

(B) कृषि और ग्रामीण विकास:

  • कृषि: परिभाषा, अर्थ और इसकी शाखाएं, कृषि विज्ञान: परिभाषा, अर्थ और कृषि विज्ञान की सीमा
  • क्षेत्रीय फसलों का वर्गीकरण फसल उत्पादन, कृषि जलवायु क्षेत्र प्रभावित कारक; फसल प्रणालियां: फसल प्रणालियों की परिभाषा और प्रकार।
  • शुष्क भूमि की समस्याएं – बीज उत्पादन, बीज प्रसंस्करण, बीज गांव; मौसम विज्ञान: मौसमी मापदंड, फसल-मौसम सलाहकार; प्रेसिजन फार्मिंग, फसल तीव्रीकरण की प्रणाली, जैविक खेती;
  • मिट्टी और जल संरक्षण: प्रमुख मिट्टी के प्रकार, मिट्टी की उर्वरता, उर्वरक, मिट्टी का क्षरण, मिट्टी संरक्षण, जल विभाजक प्रबंधन;
  • जल संसाधन: सिंचाई प्रबंधन: सिंचाई के प्रकार, सिंचाई के स्रोत, फसल-पानी की आवश्यकता, प्रमुख क्षेत्र विकास, जल संरक्षण तकनीक, सूक्ष्म सिंचाई, सिंचाई पंप, प्रमुख, मध्यम और लघु सिंचाई।
  • फार्म और कृषि इंजीनियरिंग: फार्म मशीनरी और बिजली, खेत में शक्‍ति के स्रोत – मानव, पशु, मैकेनिकल, बिजली, पवन, सौर और बायोमास, जैव ईंधन, जल संचयन संरचनायें, खेत के तालाब, जल विभाजक प्रबंधन, कृषि प्रोसेसिंग, नियंत्रित और संशोधित भंडारण, नश्‍वर खाद्य भंडारण, गोदाम, डिब्बे और अनाज बुखारी।
  • पौधारोपण और बागवानी: परिभाषा, अर्थ और इसकी शाखाएं। कृषि वृक्षारोपण और बागवानी फसलों की कृषि पद्धतियां और उत्पादन तकनीक। पौधों और बागवानी फसलों के बाद फसल प्रबंधन, मूल्य और आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।
  • पशुपालन: कृषि पशु और भारतीय अर्थव्यवस्था में उनकी भूमिका, भारत में पशुपालन पद्धति, पशुओं की विभिन्न प्रजातियों से संबंधित सामान्य शब्द, मवेशियों की नस्लों की उपयोगिता का वर्गीकरण। आम फीड और फॉडर, उनके वर्गीकरण और उपयोगिता का परिचय। भारत में मुर्गी पालन उद्योग का परिचय(भूतपूर्व, वर्तमान और भविष्य की स्थिति), मुर्गीपालन उत्पादन और प्रबंधन से संबंधित सामान्य शब्द। मिश्रित खेती की अवधारणा और भारत में किसानों की सामाजिक-आर्थिक स्थितियों की प्रासंगिकता। कृषि और कृषि के साथ पशुधन और मुर्गी उत्पादन की मानार्थ और अनिवार्य प्रकृति।
  • मत्स्य पालन: मत्स्य पालन संसाधन, प्रबंधन और शोषण – मीठे पानी, खारे पानी और समुद्री; जलीय कृषि – अंतर्देशीय और समुद्री; जैव प्रौद्योगिकी; फसल की कटाई के बाद की तकनीक। भारत में मत्स्य पालन का महत्व। मछली के उत्पादन से संबंधित सामान्य शब्द।
  • वानिकी: वन और वानिकी की बुनियादी अवधारणाएं। रेशम कृषि के सिद्धांत, वन क्षेत्र की संरचना, वन प्रबंधन और वन अर्थशास्त्र। सामाजिक वानिकी, कृषि ढांचा, संयुक्‍त वन प्रबंधन की अवधारणा। वन नीति और भारत में वन कानून, 2015 की भारत राज्य वन रिपोर्ट। पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के तहत हाल के घटनाक्रम।
  • कृषि विस्तार: कृषि प्रौद्योगिकियों के प्रसार में इसका महत्व और भूमिका, विस्तार कार्यक्रमों के मूल्यांकन के तरीके, कृषि विज्ञान केंद्र की भूमिका(केवीके)।
  • पारिस्थितिकी और जलवायु परिवर्तन: मानव, प्राकृतिक संसाधनों, उनके स्थायी प्रबंधन और संरक्षण के लिए पारिस्थितिकी और इसकी प्रासंगिकता। जलवायु परिवर्तन के कारण, ग्रीन हाउस गैसे(जीएचजी), प्रमुख जीएचजी उत्सर्जक देश, जलवायु विश्‍लेषण, अनुकूलन और शमन के बीच अंतर, कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण इलाकों में परिवर्तन, कार्बन क्रेडिट, आईपीसीसी, यूएनएफसीसीसी, सीओपी बैठकें, जलवायु परिवर्तन परियोजनाओं के वित्‍तपोषण के लिए बदलाव तंत्र, भारत सरकार की योजनायें, एनएपीसीसी, एसएपीसीसी, आईएनडीसी।
  • भारतीय कृषि और संबद्ध गतिविधियों का वर्तमान परिदृश्य; हाल के रुझान, कृषि की व्यवहार्यता बढ़ाने के लिए कृषि उपायों में प्रमुख चुनौतियां, कृषि उत्पादन के कारक, कृषि वित्‍त और विपणन; भारतीय कृषि और खाद्य सुरक्षा के मुद्दे पर वैश्‍वीकरण का प्रभाव; कृषि प्रबंधन के प्रकार और अवधारणा। ग्रामीण विकास: ग्रामीण क्षेत्र की अवधारणा, भारतीय ग्रामीण अर्थव्यवस्था की संरचना, महत्व और भारत में ग्रामीण क्षेत्र की भूमिका – भारतीय ग्रामीण अर्थव्यवस्था की आर्थिक, सामाजिक और जनसांख्यिकीय विशेषताएं, ग्रामीणों के पिछड़ेपन का कारण। भारत में ग्रामीण आबादी; ग्रामीण भारत में व्यावसायिक संरचना, किसान, कृषि श्रमिक, कारीगर, हस्तशिल्प, व्यापारी, वनवासी/जनजाति और अन्य – ग्रामीण जनसंख्या और ग्रामीण कार्यबल में परिवर्तन की प्रवृत्ति; ग्रामीण श्रम की समस्याएं और शर्तें; पंचायती राज संस्थानों के हैण्‍डलूम मुद्दे और चुनौतियां – कार्य और योजना। मनरेगा, एनआरएलएम – आजवीका, ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, स्वच्छ भारत, ग्रामीण आवास, पीयूआरए और अन्य ग्रामीण विकास कार्यक्रम।

नाबार्ड ग्रेड बी परीक्षा के चरण III के लिये(आर्थिक विकास, सांख्‍यिकी, वित्‍त और प्रबंधन)

  1. आर्थिक विकास:

विकास के मापदंड, आर्थिक विकास मॉडल, सब्सिडी की भूमिका, बचत और निवेश का महत्व, कृषि का महत्व, कृषि में व्यापार की शर्तें, भारत में विकास के मुद्दे।

  1. सांख्यिकी:

बुनियादी सांख्यिकीय अवधारणाएं, डेटा का सारांश, आवृत्‍ति वितरण, केन्द्रीय प्रवृत्‍तियों के उपाय, सम्‍बन्‍धित फैलाव, प्राथमिक संभावनायें सापेक्षिक आवृत्‍ति दृष्टिकोण, नमूनाकरण, स्वैच्छिक दृष्टिकोण, आवृत्‍ति वितरण का विश्‍लेषण, सहसंबंध, प्रतिगमन, नमूनाकरण पद्धति, समय श्रृंखला विश्‍लेषण।

  1. वित्त:

भारत में बैंक और वित्‍तीय संस्थानों, बैंकिंग और वित्‍तीय संस्थानों का विनियमन; वित्‍तीय प्रणाली- विशेषताएं, विशेषता और मुद्दे; माइक्रो फाइनेंस, इसका महत्व और उपयोगिता; केंद्रीय बजट; वित्‍त परियोजना, बुनियादी ढांचा वित्‍तपोषण, पूंजी के स्रोत, वित्त विकास; परियोजना चक्र प्रबंधन की संकल्पना, वित्‍तीय विकास के निजी और सामाजिक लागत लाभ महत्व, वित्‍तीय समावेश।

  1. प्रबंधन:

प्रबंधन: इसकी प्रकृति और विस्‍तार; प्रबंधन प्रक्रियाएं; योजनायें, संगठन, कर्मचारीगण, निर्देशन और नियंत्रण; एक संगठन में एक प्रबंधक की भूमिका।

  • नेतृत्व
  • मानव संसाधन विकास
  • संचार

NABARD Grade A (Assistant Managers) Recruitment Notification 2018 : Apply Online


SBI Clerk Preparation | Related Links

Topics Related Links
SBI Clerk Official Notification Click Here
45 Days Study Plan for SBI Clerk Prelims 2018 Click Here

SBI Clerk 2018 Exam FAQs – Everything you need to know!

 Click Here
How to Solve Number Series Questions? Tips & Tricks Click Here
How to Solve Quadratic Equation? Tips & Tricks Click Here
How to Solve Simplification & Approximation Questions? Tips & Tricks Click Here
How to Solve Simple Interest Questions? Tips & Tricks Click Here
Tips & Tricks to solve Reasoning Questions in SBI Clerk 2018 Click Here
SBI Clerk Syllabus & New Exam Pattern 2018 Click Here
SBI Clerk Previous Year Cut off Marks Click Here
SBI Clerk Previous Year Exam Analysis Click Here

Print Friendly, PDF & Email